“सखी फुल लोढ़य चलु फुलवरिया,सीता के संग सहेलियां”

आभा झा।                            " मधुश्रावणी " अपन मिथिला के धरा जहिना अनमोल अछि...

“नवविवाहिता के सबसं पैघ पाबनि जाहि में तेसर बेर सिंदुर दान होईत अछि”

अखिलेश कुमार मिश्रा।                  "मधुश्रावणी" सभ सँ पहिले मधुश्रावणी शब्दक अर्थ बुझु। मधुश्रावणी दू शब्दक जोड़ सँ बनल...

“मिथिलाक सुप्रसिद्ध मधुश्रावणी पाबनि”

बेबी झा।                               "मधुश्रावणी" भारतवर्ष मे मिथिलाक अनुसार भरि साल में...

मुक्त मुक्त मिथिला दहेज मुक्त चाही

कविता - पवन झा 'अग्निवाण' @ गुमनाम फरिश्ता मुक्त मुक्त मिथिला दहेज मुक्त चाही मुक्त मुक्त मिथिला दहेज मुक्त चाही मैथिल के धर्म एहि भांति हम निबाही बेटा और...

शीतल वेड्स मोहन – एक आदर्श विवाह (मैथिली कथा)

कथा - प्रीति मिश्र, पटना शीतल वेड्स मोहन - एक आदर्श विवाह दृश्य १ ई खिस्सा थिक मॉडर्न मिथिला के। आइ-काल्हि बेटी सब बाहर जा-जा उच्च शिक्षा हासिल...

जितेन्द्र जीतूक कविता “लाज”

कविता - जितेन्द्र जीतू लाज चंदा मामा क, आरे पारे नदिया किनारे बजेवाक जिद्द कहाँ करैत छै ओ ? सोनाक कटोरिया मे दूधो भातक लालसा, नहि छै ओकरा...

कविता

मैथिली!कुहकैत कोइली ******************** मैथिली!ककरो पिंजराक रटनमा सुगा नै मैथिली! मिथिलाक कुहकैत कोइली अछि । हमरा नहि चाही सुंदर लोल हम नैं सुनब एक्कहि रटायल बोल हमरा चाही ओ करियाही जे...

“स्वाबलंबी”

वंदना चौधरी।                        शुगनी दुए महीना के छेलै जखन ओकर पिता के देहांत भ...

“कहाउत : दुरागमनक दिन लऽ कऽ आबै बला संवादवाहक”

अखिलेश कुमार मिश्रा।                    कहाउत शब्द में दू शब्द अछि, एक कहा आ दोसर उत। कहा मतलब...

“कहौतिया : विश्वसनीय संवादवाहक”

भावेश चौधरी।                        कहौतिया - मिथिलांचलक ओ संवाद वाहक,जिनकर प्रयोजन वर पक्ष द्वारा कन्या...